Media ka Dogalapan | मीडिया का दोगलापन- पेड न्यूज

Written by Rajesh Sharma

📅 January 30, 2022

Media ka Dogalapan

पेड न्यूज (भुगतानशुदा खबर) वर्तमान बहस का सबसे चर्चित विषय है । भुगतानशुदा खबरें चलाना यह Media ka Dogalapan है जो एक गुप्त प्रक्रिया है ।

Media ka Dogalapan | मीडिया का दोगलापन- पेड न्यूज

पेड न्यूज मतलब पैसे लेकर किसी व्यक्ति या संस्था के हित/प्रशंसा में समाचार बताना । पेड न्यूज (भुगतानशुदा खबर) वर्तमान बहस का सबसे चर्चित विषय है। भुगतानशुदा खबरों के मामले में समूची प्रक्रिया गुप्त होती है। यह देश के विभिन्न हिस्सों में स्थित विभिन्न भाषाओं के छोटे-बड़े अखबारों तथा टेलीविजन चैनलों में फैल गया है। यह गैरकानूनी प्रक्रिया संगठित बन गये हैं । मीडिया कंपनियों के पत्रकारों, प्रबंधकों और मालिकों सहित विज्ञापन एजेंसियाँ और जनसंपर्क कंपनियाँ भी इसमें शामिल होती हैं ।

मार्केटिंग अधिकारी राजनैतिक हस्तियों तक अपनी पहुँच बनाने के लिए पत्रकारों का उपयोग करते हैं। इन राजनीतिक नेताओं के बीच कथित ‘रेट कार्ड’ या पैकेज बाँटे जाते हैं, जिनमें प्राय: विशेष उम्मीदवारों की प्रशंसात्मक और उनके राजनीतिक विरोधियों की आलोचनात्मक ‘खबरों’ के प्रकाशन की ‘दरें’ लिखी होती हैं। जो उम्मीदवार मीडिया संगठनों की इस रंगदारी के आगे नहीं झुकते, उनकी खबरें छापने से इन्कार कर दिया जाता है।

भारत में ‘पेड न्यूज’ (भुगतानशुदा खबर) का चलन 1967 के चुनाव से प्रारम्भ हुआ है। राष्ट्रीय स्तर के समाचार-पत्रों में यह 30 प्रतिशत, राज्य स्तर पर 50 प्रतिशत और स्थानीय अखबारों में 75 से 90 प्रतिशत तक पेड न्यूज होते हैं। भारत में 28 भाषाओं में अखबार प्रकाशित होते हैं। आज मीडिया की प्राथमिकता समाज-सेवा की बजाय धनोपार्जन बन गया है । कई मीडिया घरानों ने मीडिया की आड़ में कुछ और धंधों में हाथ आजमाना शुरु कर दियाहै । मीडिया की काली करतूतों से लोग तंग आ चुके हैं। इनकी काली करतूतें रोकने के लिए विभिन्न संगठनों ने भिन्न-भिन्न उपाय अपनाये। मुंबई में शिवसेना ने मीडिया पर नियंत्रण बनाये रखने के लिए मीडियाकर्मियों पर हमले हुए ।

मीडिया का चारित्रिक बदलाव

मीडिया के चरित्र में सबसे बड़ा बदलाव तो यह हुआ कि देखते-देखते मीडिया से जन सरोकार गायब हो गये और खबर भी एक उत्पाद बन गयी । जाहिर है कि जब खबर एक उत्पाद बन जाय और पाठक या दर्शक एक उपभोक्ता, तो ऐसी हालत में ज्यादा-से-ज्यादा मुनाफा कमाना ही मकसद बन जाता है। आज ज्यादा-से-ज्यादा पैसा कमाना मीडिया संस्थानों का मकसद बन गया है । मीडिया में हुए चारित्रिक बदलाव की वजह से काम करने की परिस्थितियाँ भी बदलीं हैं । पत्रकार भी सामान्य कर्मचारी की तरह हो गये और पत्रकारिता भी अन्य नौकरियों की तरह एक नौकरीजबकि आम लोगों के हक और हित के लिए लड़ाई लड़ने का गौरवशाली इतिहास भारतीय मीडिया के पास ही है ।

अधिक जानकारी के लिएः https://srsinternational.org/media-ki-kali-kartuten-multi-languages

0 Comments

Submit a Comment

Related Articles

Media ka Doglapan | मीडिया का दोगलापन | Media Duplicity

Media ka Doglapan | मीडिया का दोगलापन | Media Duplicity

फै्रंकोईस गौटियर(फ्रांसीसी लेखक व पत्रकार) ने Media ka Doglapan को अपने लेख में उजागर करने की भरपूर कोशिश की है । यहाँ हम जानेगें । Media ka Doglapan | मीडिया का दोगलापन | Media Duplicity  - फै्रंकोईस गौटियर(फ्रांसीसी लेखक व पत्रकार) अधिकतर भारतीय पत्रकार सभी...

read more
Patrakarita Par Janata Aawaj | पत्रकारिता पर जनता- आवाज

Patrakarita Par Janata Aawaj | पत्रकारिता पर जनता- आवाज

Patrakarita Par Janata Aawaj यह है कि कोई इसे कुत्ता, वेश्या, जनविरोधी आदि कहती है लेकिन मीडिया है कि उसे इसकी परवाह नही है । Patrakarita Par Janata Aawaj | Public voice on journalism मुझे बताइए, भारत का मीडिया इतना नकारात्मक क्यों है ?  - अब्दुल कलाम आज की पत्रकारिता...

read more
Media Chah- Isai Bharat | मीडिया चाह- ईसाई भारत बनाना

Media Chah- Isai Bharat | मीडिया चाह- ईसाई भारत बनाना

Media Chah- Isai Bharat बनाने की है । इसके लिए लोगों को स्क्रिप्टेड खबरे दिखाई जाती है व बनावटी मुद्दो में घुमाया जाता है । Media Chah- Isai Bharat | Media Desire - Creating Christian India जिस दिन दामिनी के बलात्कार की घटना मीडिया में बड़ी शुर्खियों में आई । मुझे...

read more

New Articles

Sanskriti par Aaghat I संस्कृति पर आघात I Attack on Culture

Sanskriti par Aaghat I संस्कृति पर आघात I Attack on Culture

किस तरह से भारतीय संसकृति पर आघात Sanskriti par Aaghat किये जा रहे हैं यह एक केवल उदाहरण है यहाँ पर साधू-संतों का । भारतवासियो ! सावधान !! Sanskriti par Aaghat क्या आप जानते हैं कि आपकी संस्कृति की सेवा करनेवालों के क्या हाल किये गये हैं ? (1) धर्मांतरण का विरोध करने...

read more
Helicopter Chamatkar Asaramji Bapu I हेलिकाप्टर चमत्कार आसारामजी बापू I Helicopter miracle Asaramji Bapu

Helicopter Chamatkar Asaramji Bapu I हेलिकाप्टर चमत्कार आसारामजी बापू I Helicopter miracle Asaramji Bapu

आँखो देखा हाल व विशिष्ट लोगों के बयान पढने को मिलेगें, आसारामजी बापू के हेलिकाप्टर चमत्कार Helicopter Chamatkar Asaramji Bapu की घटना का । ‘‘बड़ी भारी हेलिकॉप्टर दुर्घटना में भी बिल्कुल सुरक्षित रहने का जो चमत्कार बापूजी के साथ हुआ है, उसे सारी दुनिया ने देख लिया है ।...

read more
Ashram Bapu Dharmantaran Roka I आसाराम बापू धर्मांतरण रोका I Asaram Bapu stop conversion

Ashram Bapu Dharmantaran Roka I आसाराम बापू धर्मांतरण रोका I Asaram Bapu stop conversion

यहाँ आप Ashram Bapu Dharmantaran Roka I आसाराम बापू धर्मांतरण रोका कैसे इस विषय पर महानुभाओं के वक्तव्य पढने को मिलेगे। आप भी अपनी राय यहां कमेंट बाक्स में लिख सकते हैं । ♦  श्री अशोक सिंघलजी, अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष, विश्व हिन्दू परिषद : बापूजी आज हमारी हिन्दू...

read more
MatriPitri Pujan Valentine Divas I मातृपितृ पूजन वैलेंटाइन दिवस I Parents worship Valentine’s Day

MatriPitri Pujan Valentine Divas I मातृपितृ पूजन वैलेंटाइन दिवस I Parents worship Valentine’s Day

MatriPitri Pujan Valentine Divas I मातृपितृ पूजन वैलेंटाइन दिवस I Parents worship Valentine's Day के विषय पर महानुभाओं के विचार पढने को मिलेगें । आप भी अपने विचार इस विषय पर कमेंट बाक्स में लिख सकते हैं। MatriPitri Pujan Valentine Divas I मातृ-पितृ पूजन दिवस’ पर...

read more
Asharam Bapu par Sajis I आसाराम बापू पर साजिश I Conspiracy On Asharam Bapu

Asharam Bapu par Sajis I आसाराम बापू पर साजिश I Conspiracy On Asharam Bapu

संत, महंत, राजनेता व विशिष्ट लोगों के Asharam Bapu par Sajis I आसाराम बापू पर साजिश विषय पर अपनी अपनी राय यहाँ पढने को मिलेगी । इसे पढ कर आप भी अपनी राय कमेंट बाक्स में लिख सकते हैं। ♦ प्रसिद्ध न्यायविद् डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी कहते हैं : ‘‘हिन्दू-विरोधी एवं...

read more
Sant AsharamBapu Kaun Hai ? I संत आसारामबापू कौन हैं ? I Who is Sant AsharamBapu ?

Sant AsharamBapu Kaun Hai ? I संत आसारामबापू कौन हैं ? I Who is Sant AsharamBapu ?

राष्ठ्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री आदि विषिष्ठ लोगों के Snat AsharamBapu Kaun Hai ? इस विषय पर विचार संतों, राजनेताओं, पत्रकारों आदि के यहाँ मिलेगें । ♦ कानून में किसीको भी फँसाया जा सकता है । आशारामजी बापू पर लगा यह आरोप, केस - सारा कुछ बनावटी है । इस उम्र में...

read more