Media Chah- Isai Bharat | मीडिया चाह- ईसाई भारत बनाना

Written by Rajesh Sharma

📅 February 17, 2022

Media Chah- Isai Bharat

Media Chah- Isai Bharat बनाने की है । इसके लिए लोगों को स्क्रिप्टेड खबरे दिखाई जाती है व बनावटी मुद्दो में घुमाया जाता है ।

Media Chah- Isai Bharat | Media Desire – Creating Christian India

जिस दिन दामिनी के बलात्कार की घटना मीडिया में बड़ी शुर्खियों में आई । मुझे संदेह हो गया, सोचा कि आज ऐसी घटना इस तरह क्यों ? इसका जवाब तब मिला जब दूसरे दिन इंडिया गेट पर हजारों लोग आंदोलन करने लग गये।

पूरे भारत में अमेरिका के हजारों NGO व संगठन काम करते हैं । वही सब इंडिया गेट की सड़कों पर हजारों नवयुवक, नवयुवतियाँ भारतीय संस्कृति छोड़कर, जिंस स्कर्ट पहने हुए बलात्कार के विरुद्ध आंदोलन कर रहे थे। मानो अमेरिकी संस्कृति में ही रम गये हों। बड़ा भारी पैसा अमेरिका, यूरोप की कंपनियों का भारत में आता है। उससे संगठन चला रहे हैं, मानो बहुत बड़ी क्रांति पैदा हो रही है। यह सब वही लोग करवा रहे हैं। इसकी मैं खुली चुनौती देता हूँ। वह समाचार भी पैसा देकर छपवाया गया था।

तमिलनाड़ु में एक आण्विक ऊर्जा का यंत्र बनाया गया था, उसको छः महीने तक चलने नहीं दियाक्यों ? अमेरिकी क्लिंटन के 1300 संगठन भारत के भीतर चलते हैं, उनके पीछे ये चर्च वाले मिलकर वहाँ रोज आंदोलन करने जाते थे। वहाँ की सरकार ने उनके ऊपर रोक लगाई, गिरफ्तार किया। आंदोलन हो गया बंद और ऊर्जा का यंत्र चालू हो गया। ऐसे ही नेपाल में अमेरिका के 18 हजार संगठन धर्मान्तरण के लिए काम करते हैं।

सन् 2007 में सोनिया ने कहा, ‘‘मैं देखती हूँ इस देश के भीतर संतों के प्रति लोगों की श्रद्धा किस तरह बनी रहती ? मैं उसको नष्ट करके रहूँगी। मैं सबके ऊपर आपराधिक मामले लगवा दूँगी।’’ ये प्रक्रिया चल रही है।

जब तक ये सेक्युलरवादी लोग इस देश के भीतर राज्य करेंगे तब तक संस्कृति को ऊपर उठाने की जो हमारी भावना है, पूरी नहीं हो सकती। इस देश के भीतर हिन्दुत्व की सरकार आये और संस्कृति के आधार पर देश का विकास हो ।

अधिक जानकारी के लिएः https://srsinternational.org/media-ki-kali-kartuten-multi-languages

0 Comments

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Media ka Doglapan | मीडिया का दोगलापन | Media Duplicity

Media ka Doglapan | मीडिया का दोगलापन | Media Duplicity

फै्रंकोईस गौटियर(फ्रांसीसी लेखक व पत्रकार) ने Media ka Doglapan को अपने लेख में उजागर करने की भरपूर कोशिश की है । यहाँ हम जानेगें । Media ka Doglapan | मीडिया का दोगलापन | Media Duplicity  - फै्रंकोईस गौटियर(फ्रांसीसी लेखक व पत्रकार) अधिकतर भारतीय पत्रकार सभी...

read more
Patrakarita Par Janata Aawaj | पत्रकारिता पर जनता- आवाज

Patrakarita Par Janata Aawaj | पत्रकारिता पर जनता- आवाज

Patrakarita Par Janata Aawaj यह है कि कोई इसे कुत्ता, वेश्या, जनविरोधी आदि कहती है लेकिन मीडिया है कि उसे इसकी परवाह नही है । Patrakarita Par Janata Aawaj | Public voice on journalism मुझे बताइए, भारत का मीडिया इतना नकारात्मक क्यों है ?  - अब्दुल कलाम आज की पत्रकारिता...

read more
Patrakaron ka Ghotala Raj | पत्रकारों का घोटालाराज | Journalists’ scam

Patrakaron ka Ghotala Raj | पत्रकारों का घोटालाराज | Journalists’ scam

सरकारी आवासों पर पत्रकारों का कब्जा, मध्यप्रदेश में 210 पत्रकारों का सरकारी बंगलों पर अवैध कब्जा है । यही है Patrakaron ka Ghotala Raj Patrakaron ka Ghotala Raj | पत्रकारों का घोटालाराज | Journalists' scam दिल्ली के सरकारी आवासों पर पत्रकारों का कब्जा, सर्वोच्च...

read more

New Articles

Mangalamaya mrtyu ! | मङ्गलमय मृत्यु ! (Nepali)

Mangalamaya mrtyu ! | मङ्गलमय मृत्यु ! (Nepali)

यस Mangalamaya mrtyu लेखमा अवश्यम्भानी मृत्युलाई कसरी मङ्गलमय बनाउनेबारे जान्नुहुने छ। Mangalamaya mrtyu ! | मङ्गलमय मृत्यु ! सन्तहरूको सन्देश हामीले जीवन र मृत्युको धेरै पटक अनुभव गरिसकेका छौ । सन्तमहात्माहरू भन्छन्, ‘‘तिम्रो न त जीवन छ र न त तिम्रो मृत्यु नै हुन्छ ।...

read more
Sadgatiko raajamaarg : shraaddh | सद्गतिको राजमार्ग : श्राद्ध (Nepali)

Sadgatiko raajamaarg : shraaddh | सद्गतिको राजमार्ग : श्राद्ध (Nepali)

यस Sadgatiko raajamaarg : shraaddh लेखमा मृतक आफन्त आदिको श्राद्धले उसको सद्गति हुने तथा उसको जीवात्माको शान्ति हुन्छ भन्ने कुरा उदाहरणसहित सम्झाइएको छ। श्राद्धा सद्गगतिको राजमार्ग हो। Sadgatiko raajamaarg : shraaddh | सद्गतिको राजमार्ग : श्राद्ध श्रद्धाबाट फाइदा -...

read more
Vyavaharaka kehi ratnaharu | व्यवहारका केही रत्नहरू (Nepali)

Vyavaharaka kehi ratnaharu | व्यवहारका केही रत्नहरू (Nepali)

यस Vyavaharaka kehi ratnaharu लेखमा केही मिठो व्यबहारका उदाहरणहरू दिएर हामीले पनि कसैसित व्यवहार सोही अनुसार गर्नुपर्छ भन्ने सिक छ। Vyavaharaka kehi ratnaharu | व्यवहारका केही रत्नहरू शतक्रतु इन्द्रले देवगुरु बृहस्पतिसँग सोधे : ‘‘हे ब्रह्मण ! त्यो कुन वस्तु हो जसको...

read more
Garbhadharaṇa ra sambhogakala | गर्भधारण र सम्भोगकाल (Nepali)

Garbhadharaṇa ra sambhogakala | गर्भधारण र सम्भोगकाल (Nepali)

यस Garbhadharaṇa ra sambhogakala लेखमा दिव्य सन्तान पाउनका लागि सम्भोग गर्ने समय र विधि बताइएको छ। Garbhadharaṇa ra sambhogakala | गर्भधारण र सम्भोगकाल सहवास हेतु श्रेष्ठ समय * उत्तम सन्तान प्राप्त गर्नका लागि सप्ताहका सातै बारका रात्रिका शुभ समय यसप्रकार छन् : -...

read more
Santa avahēlanākō phala | सन्त अवहेलनाको फल

Santa avahēlanākō phala | सन्त अवहेलनाको फल

यस Santa avahēlanākō phala लेखमा सन्त महापुरुषको अवहेलनाबाट कस्तो दुष्परिणाम भोग्नुपर्छ भन्ने ज्ञान पाइन्छ। Santa avahēlanākō phala | सन्त अवहेलनाको फल आत्मानन्दको मस्तीमा निमग्न रहने कुनै सन्तलाई देखेर एक जना सेठले सोचे, ‘ब्रह्मज्ञानीको सेवा ठुलो भाग्यले पाइन्छ ।...

read more
Bharat Ka Sanskritik Samrajya । भारत का सांस्कृतिक साम्राज्य

Bharat Ka Sanskritik Samrajya । भारत का सांस्कृतिक साम्राज्य

प्राचीन काल में Bharat Ka Sanskritik Samrajya पूरे विश्व में फैला हुआ था । हमारे इतिहार व प्राप्त खुदाई के साक्ष्य इसके गवाहा हैं । Bharat Ka Sanskritik Samrajya । Cultural Empire Of India प्राचीन समय में आर्य सभ्यता और संस्कृति का विस्तार किन-किन क्षेत्रों में हुआ...

read more