Nasha Kaise Chhode- नश कैसे छोडे, बिमारियाँ, आंकडे व उपाय

Written by Rajesh Sharma

📅 March 20, 2022

Nasha Kaise Chhode

Nasha Kaise Chhode- नश कैसे छोडे, उससे होने वाली बिमारियाँ, नशा व उससे होने वाली मैत के आंकडे तथा उससे मुक्ति के उपाय यहाँ दिये जा रहे हैं ।

Nasha Kaise Chhode- नश कैसे छोडे, बिमारियाँ, आंकडे व उपाय

Nasha Kaise Chhodeजिंदगी बचाए-अभी भी वक्त है जाग जाए !

।। देश के एक बड़े वर्ग और युवाओ को मौत के गर्त में जाने से रोके ।।

मनुष्य-जाति की अधिकाधिक हानि यदि किसीने की है, तो वे हैं मादक पदार्थ । उनसे मनुष्य के धन, आरोग्यता और जीवन का नाश होता है । मादक पदार्थों का सेवन करने से भावी संतान दिनोंदिन निर्बल तथा निस्तेज बनती जाती है ।

Nasha Kaise Chhode उससे पहले यह जाने कि धूम्रपान में एक विषैला तत्त्व ‘टार’ है, जिसका कैन्सर से सीधा सम्बंध है । डॉ. ट्राले ने अपने ग्रंथ ‘‘दि ट्रू टेम्परन्स प्लेटफार्म’’ में उन मिथ्या मान्यताओं का सप्रमाण खण्डन किया है, जिसके अनुसार शराब जैसे नशों को गर्मी, स्फूर्ति एवं शक्तिदायक कहा माना जाता है । उसने सिद्ध किया है कि मद्यपान के उपरांत जो थोड़ी सी उत्तेजना दिखाई पडती है वस्तुतः वह जीवनी शक्ति जैसे बहुमूल्य तत्त्व को जलाकर चमकाई गई फुलझड़ी मात्र ही होती है । वस्तुतः मनुष्य नशा पीकर अधिक थकता और अधिक निर्बल होता चला जाता है । धूम्रपान से कैन्सर जैसी भयानक जानलेवा बिमारी की संभावना बहुत ही बढ जाती है । फेफड़ा, होंठ, जीभ, मुँह, स्वरयंत्र, गला, अन्ननली, मूत्राशय, किडनी, स्वादपिंड, प्रोस्टेट जैसे अंगों से जुड़ा अलग-अलग प्रकार का कैन्सर धूम्रपान से हो जाता है ।

Nasha Kaise Chhodeएक अनुमान के मुताबिक करीब 12 करोड भारतीय धूम्रपान करते है, जिससे हर साल 10 लाख से ज्यादा भारतीयों की मौत होती है, वही विश्व स्वास्थ्य संगठन का अनुमान है कि हर वर्ष 50 लाख लोगों की धूम्रपान से जुडी बीमारियों के कारण मौत हो जाती है ।

धूम्रमुक्त तंबाकू में 3000से अधिक रासायनिक मिश्रण होते है, जिनमे से 29 कैंसर के लिए जिम्मेदार है । तंबाकू के कारण देश में हर साल तकरीबन 8 लाख लोगों की मौते हो रही है और कुल कैंसर पीडितों में से 90फीसदी मुख कैसर के शिकार है । नशा करने से हाथ-पैर की धमनियाँ-रक्तवाहिनियाँ संकरी होती जाती है । मेहनत करने पर और चलने-फिरने पर हाथ पैर बहुत दुःखने लगते हैं और धीरे-धीरे वे हिस्से सूखने लगते हैं और अनेक मामलों में तो हाथ-पैर काटने की नौबत आ जाती है । धूम्रपान न करनेवालों को यह रोग नहीं होता और हाथ-पैर जैसे महत्त्वपूर्ण अंग बच जाते है । दारू, बीड़ी जैसे घातक शत्रुओं को छोड़ने की इच्छा है ? तो हिम्मत करो ।

Nasha Kaise Chhode- नशामुक्ति का कारगर उपाय

Nasha Kaise Chhode* प्रातःकाल उठकर दोनों होथों को देखो । पाँच बार मन ही मन कहो : ‘‘ आज मैं अपने मुँह में जहर नहीं डालूँगा… दारू नहीं पीऊँगा… नहीं पीऊँगा ।’’

* स्नानादि के बाद कटोरी में थोड़ा जल लो । ललाट पर उस पानी का तिलक करो । दृढ संकल्प करो कि अब मैं अपना भाग्य बदलूँगा । ‘हरि ॐ… हरि ॐ… ॐ…’ सवा सौ बार इस मंत्र का जप करे । पानी में निहारे और उस पानी के तीन घुँट पीये । रात्रि को सोते समय भी ऐसा करे । चमत्कारिक ईश्वरीय सहायता मिलेगी ।

* सौंफ 100 ग्राम, अजवायन 100 ग्राम, सैंधव नमक 30 ग्राम, दो बड़े नींबू का रस मिश्रित करके तवे पर सेक ले । जब नशा करना महसूस हो तब मुखवास ले । इससे रक्त सुधरेगा और नशा डाकिनी से बच जाओगे ।

* जब शराब पीने की इच्छा हो तब किशमिश का 1-1 दाना मुंह में डालकर चूसें किशमिश का शरबत पीने से भी दिमाग को ताकत मिलेगी और धीरे-धीरे शराब छोड़ने की क्षमता आ जायेगी । साथ ही इस मंत्र का जप करें : – ‘ ॐ ह्रीं यं यश्वराये नम: ’ अथवा जब शराबी निद्रा में हो तो कुटुम्बी उसकी चोटी वाले भाग में देखते हुए मन ही मन इसका जप करें ।

* कहतें हैं कि शराब पीने की जिसे आदत पड़ जाती है, उसे आसानी से नहीं छुटती, लेकिन होम्योपैथीक औषधि नशा मुक्ति योग एक ऐसी दवा है, जिसके कुछ दिनों का सेवन करने के बाद शराब पीने वाले को शराब खराब लगने लगती है ! एक दिन में दो बार सेवन कि गई पहले दिन कि खुराकें ही आश्चर्यजनक लाभ पहुंचाती है और शराब पीने कि इच्छा समाप्त हो जाती है ! इस दवा से दारु, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, पान मसाला ईत्यादि से मुक्ति मिलती है ।

* इस दवा के बाद जब शराबी की आदत छूट जाती है तो उसे दो माह तक सुबह शाम दो-दो चम्मच गुलकन्द(प्रवाल मिश्रित) खिलाते हैं और इसके बीस मिनट बाद दो चम्मच अश्वगंधारिष्ट बराबर पानी के साथ दे । इससे उसके स्वास्थ्य में अद्भुत लाभ होता है । यदि नियमित रूप से भगन्नाम का जप करते हुए प्राणायाम करते हैं तो फिर तो सोने पर सुहागा वाली  बात है ।

नशा से होने वाली बिमारियाँ व मौत के आकड़ें

* 2010 में प्रकाशित 20,000 से अधिक इज़रायली सैन्य रंगरूटों पर किये गये एक अध्ययन के अनुसार, धूम्रपान करने वालों में धूम्रपान न करने वालों की तुलना में कम बुद्धि (I.Q.) होती है . जिन्होनें कभी धूम्रपान नहीं किया उनकी औसत बुद्धि 101 थी, जबकि एक पैकेट से अधिक धूम्रपान करने वालों की औसत बुद्धि 90 थी ।

* प्रतिदिन एक सिगरेट पीने से धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के लिए, धूम्रपान ना करने वाले व्यक्ति की अपेक्षा दिल के दौरे की संभावना पचास प्रतिशत है. अरैखिक खुराक प्रतिक्रिया को प्लेटलेट एकत्रीकरण प्रक्रिया पर धूम्रपान के प्रभाव से समझाया जाता है ।

* हर साल भारत में लगभग ८ लाख नए केंसर के मामले सामने आते हैं जिनमें से तकरीबन ३.२ लाख मामले मुंह और गले के केंसर से सम्बंधित होते हैं ।

* विश्व स्वास्थ्य संगठन के सहयोग से इस बारे में ङ्कइण्ड-केन-006ङ्ख नामक सर्वेक्षण विश्व तम्बाकू निषेध दिवस से पहले जारी की गई रिपोर्ट में भविष्य की भयावह तस्वीर का खुलासा किया गया है । 66 हजार लोगों पर किए गए इस सर्वे में रतलाम में पता चला कि 12 फीसदी स्कूली बच्चे तम्बाकू का नियमित सेवन करते हैं। इस बात से साफ़ अंदाजा लगाया जा सकता है कि आने वाला समय कितना भयावह होगा ।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की अल्कोहल एण्ड इन्जुरी रिपोर्ट 2007 के अनुसार विश्व में प्रति वर्ष 18 लाख लोग शराब के कारण जान गंवा देते हैं ।

इटली के मिलान विश्वविद्यालय के शोधदल के प्रमुख आंद्रे बाकारेली ने कहा, ‘”ज्यादा शराब का सेवन करने वाले लोग थके-मांदे दिखते हैं। आमतौर पर समझा जाता है कि ज्यादा शराब पीने से समय से पहले बुढ़ापा आ जाता है। सीधे शब्दों में यह कहा जा सकता है कि अत्यधिक शराब का सेवन करने से कई तरह के कैंसर का खतरा होता है ।”

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक एक साल में करीब 54 लाख लोगों की तम्बाकू के इस्तेमाल से मौत हो जाती है। वर्ष 2015 तक यह संख्या बढ़कर 65 लाख व 2030 तक 83 लाख हो जाएगी। कई लोग कामकाज सम्बंधी तनाव और दोस्तों के दबाव के चलते धूम्रपान की आदत को अपना तो लेते हैं पर वह इस चक्रव्यूह में इस तरह घिर जाते हैं कि उनमें से ज्योदातर के लिए इस लत से छुटकारा पाना मुश्किल हो जाता है । फिर भी उपर्युक्त बताये उपाय को करने से नशा छोडना आसान भी हो जाता है ।

Related Artical-

नशा करना  कैसे छोडे

0 Comments

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

The Asaram File Film | द आसाराम फाइल फिल्म | The Asaram File Movie

The Asaram File Film | द आसाराम फाइल फिल्म | The Asaram File Movie

The Asaram File Film सन 2008 से लेकर अब तक की संत आसाराम तथा उनके आश्रम व उनके अनुयायुओं पर हुए अत्याचार की क्रूर सच्ची कहानी बताती है । ...

read more
Kashmir Atank Aur Film | कश्मीर आतंक और फिल्म | Kashmir Terror and Film

Kashmir Atank Aur Film | कश्मीर आतंक और फिल्म | Kashmir Terror and Film

यदि कहानी पाश्विक और क्रूर है उसे वैसा ही दिखाए जाने में गलत क्या है । Kashmir Atank Aur Film लेख में नरसंहार कहाँ कब और कैसे तथा किसके द्वारा किया गया । इसके पीछे कौन- कौन सी शक्तियाँ काम कर रही थी आदि यहाँ देखें । [learn_more caption="Kashmir Atank Aur Film"...

read more
Islam ke Viruddh Aavaj | इस्लाम के विरुद्ध आवाज | Voice Against Islam

Islam ke Viruddh Aavaj | इस्लाम के विरुद्ध आवाज | Voice Against Islam

जब तक दुनिया में मुसलमान व कुरान रहेगी विश्व में शांति स्थापित होना असंभव है ऐसी Islam ke Viruddh Aavaj  उठ रही है । धर्मं के नाम पर मुसलमानों द्वारा कई देशों में हिंसक लड़ाईयाँ चालू है । Islam ke Viruddh Aavaj | इस्लाम के विरुद्ध आवाज जब तक दुनिया में कुरान रहेगी...

read more

New Articles

Mangalamaya mrtyu ! | मङ्गलमय मृत्यु ! (Nepali)

Mangalamaya mrtyu ! | मङ्गलमय मृत्यु ! (Nepali)

यस Mangalamaya mrtyu लेखमा अवश्यम्भानी मृत्युलाई कसरी मङ्गलमय बनाउनेबारे जान्नुहुने छ। Mangalamaya mrtyu ! | मङ्गलमय मृत्यु ! सन्तहरूको सन्देश हामीले जीवन र मृत्युको धेरै पटक अनुभव गरिसकेका छौ । सन्तमहात्माहरू भन्छन्, ‘‘तिम्रो न त जीवन छ र न त तिम्रो मृत्यु नै हुन्छ ।...

read more
Sadgatiko raajamaarg : shraaddh | सद्गतिको राजमार्ग : श्राद्ध (Nepali)

Sadgatiko raajamaarg : shraaddh | सद्गतिको राजमार्ग : श्राद्ध (Nepali)

यस Sadgatiko raajamaarg : shraaddh लेखमा मृतक आफन्त आदिको श्राद्धले उसको सद्गति हुने तथा उसको जीवात्माको शान्ति हुन्छ भन्ने कुरा उदाहरणसहित सम्झाइएको छ। श्राद्धा सद्गगतिको राजमार्ग हो। Sadgatiko raajamaarg : shraaddh | सद्गतिको राजमार्ग : श्राद्ध श्रद्धाबाट फाइदा -...

read more
Vyavaharaka kehi ratnaharu | व्यवहारका केही रत्नहरू (Nepali)

Vyavaharaka kehi ratnaharu | व्यवहारका केही रत्नहरू (Nepali)

यस Vyavaharaka kehi ratnaharu लेखमा केही मिठो व्यबहारका उदाहरणहरू दिएर हामीले पनि कसैसित व्यवहार सोही अनुसार गर्नुपर्छ भन्ने सिक छ। Vyavaharaka kehi ratnaharu | व्यवहारका केही रत्नहरू शतक्रतु इन्द्रले देवगुरु बृहस्पतिसँग सोधे : ‘‘हे ब्रह्मण ! त्यो कुन वस्तु हो जसको...

read more
Garbhadharaṇa ra sambhogakala | गर्भधारण र सम्भोगकाल (Nepali)

Garbhadharaṇa ra sambhogakala | गर्भधारण र सम्भोगकाल (Nepali)

यस Garbhadharaṇa ra sambhogakala लेखमा दिव्य सन्तान पाउनका लागि सम्भोग गर्ने समय र विधि बताइएको छ। Garbhadharaṇa ra sambhogakala | गर्भधारण र सम्भोगकाल सहवास हेतु श्रेष्ठ समय * उत्तम सन्तान प्राप्त गर्नका लागि सप्ताहका सातै बारका रात्रिका शुभ समय यसप्रकार छन् : -...

read more
Santa avahēlanākō phala | सन्त अवहेलनाको फल

Santa avahēlanākō phala | सन्त अवहेलनाको फल

यस Santa avahēlanākō phala लेखमा सन्त महापुरुषको अवहेलनाबाट कस्तो दुष्परिणाम भोग्नुपर्छ भन्ने ज्ञान पाइन्छ। Santa avahēlanākō phala | सन्त अवहेलनाको फल आत्मानन्दको मस्तीमा निमग्न रहने कुनै सन्तलाई देखेर एक जना सेठले सोचे, ‘ब्रह्मज्ञानीको सेवा ठुलो भाग्यले पाइन्छ ।...

read more
Bharat Ka Sanskritik Samrajya । भारत का सांस्कृतिक साम्राज्य

Bharat Ka Sanskritik Samrajya । भारत का सांस्कृतिक साम्राज्य

प्राचीन काल में Bharat Ka Sanskritik Samrajya पूरे विश्व में फैला हुआ था । हमारे इतिहार व प्राप्त खुदाई के साक्ष्य इसके गवाहा हैं । Bharat Ka Sanskritik Samrajya । Cultural Empire Of India प्राचीन समय में आर्य सभ्यता और संस्कृति का विस्तार किन-किन क्षेत्रों में हुआ...

read more